सोमवार, अक्तूबर 09, 2017

जीवन में सफलता पाने के मूलमंत्र। key of success in hindi



अगर आप समुद्र या नदी के किनारे बैठे हैं और आपके दोस्त भी वहाँ पर आ जाये और तैरने के लिए कहे और आपको तैरना नहीं आता हैं तो क्या आप तैरने का आनंद ले पायेगे? शायद नहीं! यदि आपको तैरना आता तो आप अपने दोस्तो के साथ तैरने का आनंद लेते।
ठीक इसी प्रकार हमारा जीवन एक समुद्र की तरह होता हैं और यदि आपको जीवन के समुद्र में तैरना नहीं आता हैं तो आपको ही अफसोस होगा कि काश अगर मुझे तैरना आता तो मैं भी अपने दोस्तो तथा परिवार वालो के साथ मजे करता।





इन सभी बातो को लेकर मैं कुछ ऐसे उपाय बताऊँगा जिससे आपको जीवन के समुद्र में तैरते हुए कोई परेशानी न हो और आसानी से आप जीवन के इस समुद्र में तैर सके। अगर आपके पास सफलता हैं तो सभी लोग आपके साथ रहेगे नहीं  तो असफलता में कोई किसी के साथ नहीं रहता हैं। यही जीवन का कड़वा सच हैं। चलिए जानते हैं कुछ ऐसे उपाय जिससे सफलता आपके कदम चूमे।

1)- हमेशा कठिनाइयों तथा परेशानी से लड़ने की ताकत रखे-
यदि आप बेर खाना चाहतें हैं तो आपको उससे लगने वालो कांटो के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि बेर तोड़ने समय एक या दो कांटे आपको लग सकते हैं। ठीक इसी प्रकार यदि आप कोई काम start करते हैं और उसमें सफल होना चाहते हैं तो आपको उससे आने वाली परेशानी तथा कठिनाइयों के लिए तैयार रहना चाहिये। यदि आप इन रास्ताे में आने वाली कठिनाइयों का सामना करने के लिए तैयार हैं तो अपने कदम आगे बढ़ा दीजिए। आपको सफलता जरूर मिलेगी।





2)- उन लोगों से दूर रहे जो आपकी सफलता में रोडा बने-
आपको ऐसे कई लोग मिल जायेंगे जो खुद तो बरबाद हैं और दूसरो को भी वे अपनी लिस्ट में शामिल कर लेते हैं। ऐसे लोगों से जरूर दूर रहे जो आपका समय बरबाद कराकर आपकी सफलता में रोडा बने। अगर आप इन लोगों के साथ रहते हैं तो आप उतना सफल नहीं होगे जितना कि आप उनका त्याग करके प्राप्त कर सकते हैं। शायद uc news में आपने मेरी एक पोस्ट पढ़ी होगी जिसमें मैने चाणक्य जी के कुछ विचार बताये थे। चाणक्य जी ने साफ कहा हैं कि बुरे लोगों के संगत न करे नहीं तो कुछ ही दिनो में उनके गुण आप पर आ जायेंगे। अंत: ऐसे लोगों की क्या जरूरत हैं जो आपकी सफलता में बाधक बन जाये।

3)- योजना बनाकर कार्य करे-
जीवन में कोई कार्य संयोग से नहीं होता हैं बल्कि इसके लिए हमें खुद योजना बनानी पड़ती हैं। बिना योजना के कार्य में असफलता निश्चय हैं। यदि संयोग से कार्य हो भी गया तो ऐसे कार्य पूर्ण रूप से स्थायी नहीं होते हैं। अंत: यदि आप किसी कार्य को करना चाहतें हैं तो उस कार्य को करने से पहले उस कार्य की योजना बनाइए कि कैसे आपको इस कार्य के मंजिल तक पहुंचना हैं। अगर आप योजना बना लेते हैं तो शायद ही आप असफल हो। इसमें 80% chance हैं कि आप सफल होंगे। बस आपको कठिनाइयों से लड़ने का जज्बा हो तो आपके लिए कोई कार्य बड़ा नहीं हैं।

4)- अपने कार्य को अहमियत दे-
अगर आप अपने कार्य को बताने की बजाय कार्य करने में विश्वास रखते हैं तो यकीन मानिये दुनिया एक दिन आपको आपके कार्यो से जानेगी न कि आपके कार्यो के नाम से। यही जीवन का मूलमंत्र हैं कि काम करने के लिए कहना उतना important नहीं हैं जितना कि उस कार्य को पूरा करना। मान लीजिए आप घड़ी  का अविष्कार करना चाहतें हैं और ये बात आप सबसे बता देते हैं तो क्या दुनिया आपको इतना अहमियत देगी कि आप उस कार्य को कर ही लेंगे? शायद नहीं ! और यदि आप इसी कार्य को पहले पूरा कर लेते हैं तो लोग क्या कहेगे? लोग कहेंगे की फलाने ने घड़ी का अविष्कार कर लिया हैं। यानी अब लोग आपके कार्य को ज्यादा अहमियत तथा महत्व दे रहे हैं। इसलिए कार्य करने में विश्वास करे न कि बताने पर।





5)- परिणाम को सोचकर ही कार्य start करे-
अगर आप किसी कार्य में पूर्ण रूप से सफल होना चाहते हैं तो सबसे पहले उस कार्य का परिणाम सोच ले, इसके बाद ही कार्य start करे। यदि आप परिणाम सोंचते हैं तो आपको दो प्रकार के परिणाम मिलेगे। पहला कि वह परिणाम positive हो सकता हैं और दूसरा कि मिलने वाला परिणाम negative हो सकता हैं। यदि आप उस कार्य के प्रति सकारात्मक हैं या मिलने वाला परिणाम positive हैं तब निश्चिंत होकर उस कार्य को start करे आपको सफलता जरुर मिलेगी। अगर आप negative हैं तो उस कार्य को न करे।

6)- समय को ज्यादा दे अहमियत न कि धन को-
समय से मूल्यवान आज तक कोई चीज नहीं हैं। यदि आप समय की इज्जत नहीं करना जानते हैं तो आप भूल जाइये कि आप इसके बिना कभी सफल हो सकते हैं। अगर आप समय की अहमियत जानते हैं तो ये भी आपकी इज्जत करेगा नहीं तो ये भी आपको पीछे छोड़कर चला जायेगा। आपने सुना भी  होगा कि बीता हुआ समय कभी वापस नहीं आता हैं। मान लो यदि धन खो गया तो धन फिर से अर्जित किया जा सकता हैं पर यदि समय एक बार निकल गया तो वह समय दुबारा वापस नहीं आता हैं। इसलिए समय, धन से ज्यादा मूल्यवान हैं। यदि आप समय के साथ चलना सीख गये तो आपको वह चीज अवश्य मिल जायेगी जो आप चाहते हैं।
इस sentence को जरूर याद रखे- Time is more valuable than money.

7)- सभी कार्यो का shortcut नहीं होता हैं-
आजकल shortcut का जवाना हैं। सभी लोग चाहते हैं कि उन्हें सभी कार्यो का shortcut मिल जाये ताकि उन्हें मेहनत न करनी पड़े। कई ऐसे कार्य हैं जिनमें शार्टकट की नहीं बल्कि कुछ ऊर्जा की आवश्यकता होती हैं। यदि आप उस कार्य को करने में उतनी ऊर्जा लगा दे जितनी कि उसमें जरूरत हैं तो आपका वह कार्य अवश्य पूरा हो जायेगा। अंत: अगर आपको किसी कार्य में positive result चाहिए तो आपको उस कार्य में एक निश्चित ऊर्जा को खर्च करना ही पड़ेगा।

दोस्तो all the best लगे रहिए और भरपूर मेहनत करिये एक न एक दिन जरूर सफलता आपके कदम चूमेगी। चलिए एक वादे के साथ फिर मिलेंगे एक नयी post के साथ। तब तक के लिए अलविदा।

2 टिप्‍पणियां:

यह ब्लॉग खोजें